Friday, February 19, 2010

तुम्हारे....मेरे लिए....

नींद मयस्सर नहीं अब मुझे...रात होती है... क्योंकि ये रात की मजबूरी है... वर्ना यूंही जागकर सोना....एक आदत सी बन चुकी है...ज़िंदगी बिताना भी...बस अब एक आदत सी है... जिंदगी के हर दोराहे पर.. कश्मकश पर...फलसफे पर.....गिरती-पड़ती.....दौड़ती-हांफती......कई ज़िंदगियों की जंग के बीच...सुनाई देती है...कुछ सन्नाटो की आहट....इक जंगल डूबा जो गहरे सन्नाटे में...बस वोही गुमा देता है इन यादो को....जीने की आदत को.... सन्नाटों की गमक को...उस हर चीज़ को जो देती आमद तुम्हारी...तुम्हारे आने की....तुम्हारी यादों की....तुम्हारी आँखो की....तुम्हारी उस एक मुस्कान की.... जिसके लिए ये ज़िंदगी भी कम इंतज़ार के लिए... पर फिर भी......इंतज़ार उस ज़िंदगी का जिन बर्फ़ बनती..रिश्तों की तासीर गुमाना चाहती हूं....क्योंकि..पता नहीं क्यों...एक गर्माहट जो तुम्हारे चेहरे से झांकती महसूस होती है...जिंदगी के एक और दिन के लिए....इक इंतज़ार के लिए और तुम्हारे ...मेरे लिए.......!!

13 comments:

Rajey Sha said...

हूँ।

डॉ .अनुराग said...

हम्म्म्म ...
कहां रहती है ?...कागजो में अटेंडेंस कभी कभी थकान देती है .ओर कभी कभी वेंटिलेट भी करती है ....

संजय भास्कर said...

हर रंग को आपने बहुत ही सुन्‍दर शब्‍दों में पिरोया है, बेहतरीन प्रस्‍तुति ।

संजय भास्कर said...

बहुत ही सुन्‍दर प्रस्‍तुति ।

poemsnpuja said...

नींद मयस्सर नहीं अब मुझे...रात होती है... क्योंकि ये रात की मजबूरी है... वर्ना यूंही जागकर सोना....

एक सौ सोलह चाँद की रातें, एक तुम्हारे काँधे का तिल...

नीम अँधेरे में एक याद का सांवला सा रंग, किसी के होने की खुशबू...तुम जाने कैसे लिखती हो कि कमरा जिन्दा हो जाता है, लगता है रजनीगन्धा के फूल रखें हो मेज पर जब ये लिख रही थी तुम, खुशबू आती है. रात की उनींदी पलकों पे रखी कोई गज़ल सी, उदास, चुप...इंतज़ार में.

Aaron Thomae said...

Please read my blog and let me know what you think!

http://bestvacationdestinations.blogspot.com/

अबयज़ ख़ान said...

बहुत उम्दा
तेरे आने की जब खबर महके
तेरी खुशबू से सारा घर महके..

प्यार का ये भी बेहद खूबसूरत रूप है... बेहतरीन है..
होली की ढेर सारी शुभकामनाएं

Maria Mcclain said...

Hi tanu
, ur blog is really interesting & wonderful, while reading it I truly like it. I just wanna suggest that u should submit your blog in this website which is offering very unique features at cheap prices there are expert advertising team who will promote ur blog & affiliate ads through all over the networks which will definitely boost ur traffic & readers. Finally I have bookmarked ur blog & also shared to my friends.i think my friend might too like it hope u have a wonderful day & !!happy blogging!!.

राकेश कौशिक said...

बहुत खूब

एहसास.........अभी जिन्दा है. said...

बहुत ही सुन्‍दर .. बहुत शुभकामनाएं

Manish Gokhale(Thakur Baldevsingh)9822859270 said...

bahot khub likha hai aapne.keep it up

psingh said...

sundar post

yogindera said...

kya khuv likhti ho pr km dikhti ho..